You are currently viewing साइखोम मीराबाई चानू का जीवन परिचय | Mirabai Chanu Biography In Hindi

साइखोम मीराबाई चानू का जीवन परिचय | Mirabai Chanu Biography In Hindi

Mirabai Chanu Biography In Hindi: मीराबाई चानू एक पद्मश्री सम्मानित भारतीय खिलाड़ी है, जो की एक वेइटलिफ्टर है । हॉल ही में मीराबाई चानू ने कॉमनवेल्थ या राष्ट्रमंडल खेल में वेटलिफ्टिंग प्रतियोगिता में गोल्ड मैडल जीत कर भारत का नाम रोशन किया है । मीराबाई चानू ने इस कॉमनवेल्थ गेम में 6 वेटलिफ्टिंग का मैच खेला और सब में वो जीत कर रिकॉर्ड तोड़ दी और इसके अलावा महिलाओं के 48 किलोग्राम के वेटलिफ्टिंग में पहला स्थान प्राप्त किया, जिस वजह से भारत को उनपर बोहत ज्यादा गर्व है।

Contents In Shorts

साइखोम मीराबाई चानू का जीवन परिचय | Mirabai Chanu Biography In Hindi (Short)

Mirabai Chanu Biography in hindi 
नाम (Name)मीराबाई चानू
पूरा नाम (Full Name)साइखोम मीराबाई चानू
उम्र (Age)23 वर्ष (2021)
जन्म की तारीख (Date Of Birth)8 अगस्त 1994
घर (Home Town )नांगपोक कक्चिंग, इम्फाल
पेशा(Profession)भारोत्तोलन (weightlifting)
धर्म (Religion)हिन्दू (Hindu)
जाती (Cast)मेइतेई
कद (Height)4 फ़ीट 11 इंच
वजन (Weight)48 किलोग्राम
Mirabai Chanu Weightlifting Career
प्रतिस्पर्धा (Event)49 किलोग्राम
कोच (Coach)विजय शर्मा (Vijay Sharma)
मेडल्स (Medals)कॉमनवेल्थ गेम (Commonwealth Games)
सिल्वर मेडल (2014) - स्कॉटलैंड
गोल्ड मेडल (2018)
एशियाई चम्पिओन्शिप्स (Asian Championships)
ब्रोंज मैडल (2020) - उज़्बेकिस्तान
वर्ल्ड चैंपियनशिप (World Championships)
गोल्ड मैडल (2017)
ओलिंपिक
सिल्वर मेडल (2020) - टोक्यो
मीराबाई चानू के परिवार (Mirabai Chanu Family)
पति (Husband)N/A
पिता (Father)साईकोहं कृति मेतेई
माता (Mother)साइखोम ओंगबी तोंबी लीमा
भाई (Brothers)साइखोम सनतोम्बा मैतेई (Saikhom Sanatomba Meitei)
बहन (Sisters)रंगिता साइखोम (Rangita Saikom)
पसन्दीदार खाना
(Favourite Food)
कांगसोई
आदत (Hobbies)घूमना और गण सुनना

मीराबाई चानू का जन्म (Mirabai Chanu Date Of Birth)

मीराबाई चानू का जन्म 8 अगस्त 1994 को मणिपुर की राजधानी इम्फाल से 30 किलोमीटर दूर नांगपोक कक्चिंग नमक गॉव में हुआ है । इनकी उम्र मात्र 23 वर्ष है । मीराबाई चानू की शुरुवाती शिक्षा इम्फाल से ही हुई है ।

मीराबाई चानू के परिवार (Mirabai Chanu Family)

Mirabai Chanu Biography In Hindi :

  • मीराबाई चानू के पिता का नाम साईकोहं कृति मेतेई है, जो की एक पीडब्लूडी (PWD) में काम करते है ।
  • मीराबाई चानू की माता का नाम साइखोम ओंगबी तोंबी लीमा है, जो एक दुकान चलती है ।
  • उनका परिवार एक माध्यम वर्गीय परिवार है ।
  • मीराबाई चानू मेइतेई समुदाई से आती है, जो मणिपुर राज्य के मुख्या निवासी है ।

इसे भी जाने :

जाने Bhuj film की कहानी । क्या Bhuj एक सच्ची घटना पे आधारी है ?

जाने कैसे एक रेस्टोरेंट में गाना गाने वाला लड़का आज इतना बड़ा यूटूबेर बन गया ।

जाने कैसे Ashish Chanchalani ने शुरू किया अपना एक्टिंग करियर ।

जाने कैसे बॉलीवुड ने इमरान हाश्मी को सीरियल किसर का टैग दे दिया था ।

मीराबाई चनु की उपलब्धियाँ (Mirabai Chanu Achievement)

Mirabai Chanu Biography In HIndi, Mirabai Chanu Biography, Mirabai Chanu
Mirabai Chanu Biography In Hindi

मीराबाई चानू के पास दो गोल्ड मैडल, दो सिल्वर मैडल और एक ब्रोंज मैडल है । जिस वजह से वो आज के समय में भारत की वो बोहत प्रतिष्ठित महिला खिलाड़ी है।

मीराबाई चानू की कॉमनवेल्थ गेम में उपलब्धिया (Mirabai Chanu Achievement In Commonwealth Games)

  1. मीराबाई चानू ने 2014 के कॉमनवेल्थ गेम जो की स्कॉटलैंड में हुआ था, वहाँ महिलाओं के 48 किलोग्राम के केटेगरी में सिल्वर मेडल जीत कर भारत का नाम बोहत रोशन किया था ।
  2. मीराबाई चानू ने फिर चार साल बाद यानि 2018 में महिलाओ के वेटलिफ्टिंग प्रतियोगिता में 48 किलोग्राम के केटेगरी में भारत को गोल्ड मेडल दिला कर भारत का नाम फिर से ऊँचा कर दिया । मीराबाई चानू की कॉमनवेल्थ गेम में उपलब्धिया

मीराबाई चानू की एशियाई चम्पिओन्शिप्स में उपलब्धिया (Mirabai Chanu Achievement In Asian Championships)

मीराबाई चानू ने उज़्बेकिस्तान में आयोजित एशियाई चैंपियनशिप में महिलाओ के 49 किलोग्राम के केटेगरी में भारत को ब्रोंज मैडल दे कर भारत का नाम रोशन किया था ।

मीराबाई चानू की वर्ल्ड चैंपियनशिप में उपलब्धिया (Mirabai Chanu Achievement In World Championships)

मीराबाई चानु ने 2017 में आयोजित वर्ल्ड चैंपियनशिप में महिलाओं के 48 किलोग्राम के केटेगरी में भारत को गोल्ड मैडल दिला कर भारत का नाम फिर से गौरवान्वित कर दिया था ।

मीराबाई चानू की ओलिंपिक गेम में उपलब्धिया (Mirabai Chanu Achievement In Olympics)

मीराबाई चानू ने 2020 के टोक्यो में आयोजित समर ओलिंपिक में महिलाओं के 49 किलोग्राम के केटेगरी में भारत को सिल्वर मेडल दे कर भारत का नाम पुनः रोशन किया था ।

मीराबाई चानू के पुरस्कार (Mirabai Chanu Awards)

Mirabai Chanu Biography In Hindi

  • मीराबाई चानू को 2018 में दो अवार्ड एक पद्मश्री और दूसरा राजीव गाँधी खेल रत्न अवार्ड के द्वारा सम्मानित किया गया था ।
  • 2020 टोक्यो समर ओलंपिक्स में मीराबाई चानू को मणिपुर के सरकार के द्वारा क्वालीफाई होने जे बाद 10 लाख और पार्टिसिपेट करने के बाद 25 लाख रूपए दिया गया ।
  • 2020 टोक्यो समर ओलंपिक्स में मीराबाई चानू के द्वारा सिल्वर मैडल जीता गया था, जिस वजह से उनको भारत सरकार के द्वारा 50 लाख रूपए और मणिपुर के सरकार के द्वारा 1 करोड़ और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (खेल) के पद पर नियुक्ति का पत्र सौपा और इसके अलावा Ministry of India Railways के द्वारा भी उनको 2 करोड़ रूपए का चेक दिया गया और Northeast Frontier Railway में Promotion दिया गया ।
  • 2017 में आयोजित वर्ल्ड वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में मीराबाई चानू ने गोल्ड मैडल जीत कर भारत को सम्मानित किया था, जिस वजह से मणिपुर सरकार के द्वारा 20 लाख रूपए देकर सम्मानित किया गया था ।

मीराबाई चानू कोच (Mirabai Chanu Coach)

Mirabai Chanu Biography In Hindi :

मीराबाई चानू के बचपन के कोच का नाम अनीता चानू है और उनके अभी के कोच का नाम कुंजरानी देवी है, जो इम्फाल की ही रहने वाली है । कुंजरानी देवी खुद एक वेटलिफ्टिंग भारतीय खिलाड़ी है ।

मीराबाई चानू के जीवन से जुड़े कुछ रोचक तथ्य (Interesting Facts About Mirabai Chanu )

Mirabai Chanu Biography In Hindi :

  • मीराबाई चानू एक मध्यमवग्रीये परिवार से आती है, जिस वजह से बचपन में उनके घर पर चूल्हा पर खाना बनाया जाता है, जिसके लिए लकड़ियों की जरुरत होती थी । वो बताती है की वो अपने भाई से ज्यादा लकड़ियाँ उठा कर लाया करती थी ।
  • बचपन से ही उनका स्पोर्ट में काफी मन लगता था । जब वो अपने भाइयो को फुटबॉल खेलते देखती थी तब वो सोचती थी की फुटबॉल खेलने में बोहत मज़ा आता है पर इसमें कपड़े बोहत गंदे होते है । तो वो ऐसा स्पोर्ट चुनना चाहती थी जहाँ पर कपड़े गंदे न हो, साफ़ सुथरा रहा जा सके । तब उन्होंने आर्चरी होते हुए देखा, इन्होने सोचा की आर्चरी को ही as a sport ले लिया जाये, क्युकी ये बड़ा ही neat and clean और stylish sport है, इस लिए 2008 में जब ये 13 – 14 साल की थी, अपने कजिन के साथ इम्फाल गयी ।
  • वहाँ स्पोर्ट अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया के सेंटर में इन्होने ट्रेनिंग करने की सोची, लेकिन उस वक्त वहां आर्चरी की कोई ट्रेनिंग नहीं होती थी । तब वहां उन्होंने कुंजरानी देवी की कुछ वीडियो देखि, जो की मणिपुर से ही एक फेमस इंडियन वेइटलिफ्टर है । इंटरनेशनल कम्पीटशन में इन्होने काफी मेडल्स जीते है ।
  • उनकी क्लिप देख कर वो बोहत इंस्पायर्ड फील करने लगी और उन्होंने सोचा की क्यों न वेटलिफ्टिंग ही कर लिया जाये । उस समय वहां की कोच अनीता चनु थी इन्होने हिन् वेटलिफ्टिंग से इनको इंट्रोडस करवाया ।
  • ट्रेनिंग सेण्टर इनके गॉव से 20 किलोमीटर दूर था, रोज सुबह उनको बस के द्वारा वहां पहुंचना होता था, इनको दो बार बस बदलना परता था । रोज सुबह सवेरे उठ कर ट्रेनिंग करने जाती और प्रैक्टिस करते रहती थी ।
  • इन्ही करी मेहनत के दम पर मीराबाई चानू ने सिर्फ 6 साल में 2017 में स्कॉटलैंड में आयोजित कॉमन वेल्थ गेम में सिल्वर मैडल जीत लिया ।
  • 2016 में जब रिओ में ओलंपिक्स हुए थे, तब इन्होने नेशनल सिलेक्शन ट्रायल्स में बारह साल पुराना रिकॉर्ड तोर दिया । जब मीराबाई चानू नेशनल रिकॉर्ड तोर कर क्वालीफाई कर गयी थी, तब इन्हे टॉप कन्टेंडर माना जा रहा था । लेकिन 2016 के ओलिंपिक में बोहत ही अविश्वसनीय घटना घटी । वो DNF के टैग के साथ घर वापस लोटी यानी Did Not Finish का टैग । क्युकी क्लीन एंड जर्क सेगमेंट में इनका एक भी legitimate lift नहीं था, यानि सही तरीके से इन्हे लिफ्ट नहीं किया गया था । जिस वजह से इन्हे disqualified कर दिया गया था ।
  • इतनी शर्मनाक हार के बाद इनके लिए वो एक challenging time था, की फिर से वापस आना और फिर से मेहनत करने लग जाना। इन्होने हिम्मत नहीं हारी और जब 2017 में वर्ल्ड चैंपियनशिप हुई, तो इन्होने गोल्ड मैडल जीत लिया लिया । अगले साल 2018 में ऑस्ट्रेलिया में कॉमनवेल्थ गेम हुई वहां पर इन्होने ना सिर्फ 48 किलोग्राम के कैटोगरी में गोल्ड मैडल जीता बल्कि सरे रिकॉर्ड तोड़ दिए।
  • 2018 में ही इन्हे राजीव गाँधी खेल रत्न अवार्ड भी दिया गया। सबकुछ बोहत अच्छा चल रहा था, लेकिन ज़िन्दगी ने इन्हे एक और झटका दिया। इन्हे lower back injury हो गयी और इन्हे एक साल तक गेम से दूर रहना परा। 2019 में इन्होने वापसी की और इसके बाद 2021 के टोक्यो ओलिंपिक में इन्होने सिल्वर मॉडल जीत लिया ।
  • टोक्यो ओलिंपिक जीतने के बाद इन्हे पिज़्ज़ा खाने का बोहत मन कर रहा था जिस वजह से इन्होने ट्वीटर पर ट्ववीट कर दिया और ये देख कर डोमिनोज़ कंपनी के द्वारा इनको जीवन भर फ्री पिज़्ज़ा खिलने का ऐलान कर दिया। 

ये भी जाने: जॉन अब्राहम से जुड़ी 30 ऐसे रोचक तथ्य, जिन्हे आपने कभी ना सुना हो। 

ये भी जाने : जाने वरुण धवन के सारी हिट और फ्लॉप फिल्मो के बारे में। 

ये भी जाने : जाने दिशा पाटनी की सारी हिट और फ्लॉप फिल्मो के बारे में। 

People Also Search About Mirabai Chanu

Mirabai Chanu Biography In Hindi:

Q1. Which state Mirabai Chanu?

Ans: Manipur

Q2. Is Mirabai Chanu getting gold?

Ans: yes, कॉमनवेल्थ गेम (Commonwealth Games)
सिल्वर मेडल (2014) – स्कॉटलैंड
गोल्ड मेडल (2018)
एशियाई चम्पिओन्शिप्स (Asian Championships)
ब्रोंज मैडल (2020) – उज़्बेकिस्तान
वर्ल्ड चैंपियनशिप (World Championships)
गोल्ड मैडल (2017)
ओलिंपिक
सिल्वर मेडल (2020) – टोक्यो

Q3. Who won silver medal for India in Tokyo Olympics?

Ans: Mirabai Chanu

Q4. Where is Mirabai Chanu from?

Ans: नांगपोक कक्चिंग, इम्फाल

Q5. How much did Mirabai Chanu lift?

Ans: 119 Kg

Q6. Mirabai Chanu Religion?

Ans: हिन्दू (Hindu)

Q7. Mirabai Chanu Age ?

Ans: 23 वर्ष (2021)

Q8. Mirabai Chanu Family?

Ans: पिता (Father): साईकोहं कृति मेतेई
माता (Mother): साइखोम ओंगबी तोंबी लीमा
भाई (Brothers): साइखोम सनतोम्बा मैतेई (Saikhom Sanatomba Meitei)
बहन (Sisters): रंगिता साइखोम (Rangita Saikom)

आशा करता हु मेरे द्वारा दी गयी Mirabai Chanu Biography In hindi आपको बोहत अच्छी लगी होगी । इसी तरह हमारे आर्टिकल को पढ़ने के लिओए हमारे वेबसाइट के ईमेल सब्सक्रिप्शन जरूर ले ।

Disclaimer: This is an entertainment website only. All images and content placed here are for introducing purposes only. All images found on this site have been collected from various sources across the web and are believed to be in the “Public Domain”. If have any other issue then feel free to Contact Us.

(यह सिर्फ एक एंटरटेनमेंट वेबसाइट है। यहां रखी गई सभी छवियां और सामग्री केवल उद्देश्य का परिचय देने के लिए हैं। इस साइट पर मिली सभी छवियों को वेब के विभिन्न स्रोतों से एकत्र किया गया है और माना जाता है कि वे “सार्वजनिक डोमेन” में हैं। यदि कोई अन्य समस्या है तो बेझिझक हमसे संपर्क करें।)

Leave a Reply